अब श्रद्घालुओं को मिलेगा स्थानीय उत्पाद से बना प्रसाद

जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल की अध्यक्षता में जिला सभागार में यात्रा सम्बन्धी बैठक आहूत की गयी। जिलाधिकारी ने कहा कि आगामी यात्रा में आने वाले श्रद्घालुओ को बाबा केदारनाथ दर्शन के दौरान स्थानीय उत्पादन के तहत प्रसाद वितरित किया जायेगा

जिसमें 11 आइटम प्रसाद में रखे जायेगें। इस हेतु मुख्य विकास अधिकारी की अध्यक्षता में एक कमेटी गठित करने को कहा। जिलाधिकारी ने कहा कि स्थानीय व्यंजनों से बना भोजन, वेश-भूषा तथा स्थानीय रीति-रिवाज के लिए एक स्थान चयनित कर लिया जाय। जिससे तीर्थयात्रियों को हमारी संस्कृति का ज्ञान हो सके।

बैठक मेें जिलाधिकारी द्वारा कृर्षि अधिकारी को निर्देश दिए कि वह प्रत्येक ब्लॉक में पाँच गाँवों में बजंर भूमि को चयनित करें तथा वहाँ पर किसी भी प्रकार का उत्पादन कराया जा सकता है। इसके लिये पहले गाँव में महिला समूह, नवयुवकों द्वारा उत्पादन कराया जाय जिस से लोगों को रोजगार मिल सके। जिलाधिकारी के समक्ष लक्षमण सिंह सजवाण ने अपने उत्पाद (सब्जी) को प्रर्दशित किया।

इस अवसर पर कृर्षि विज्ञान केन्द्र जाखधार के डा0 ए0के0 शर्मा ने भी कृर्षि पर जोर देते हुए कहा कि वह खुद अपने पालिट्री फार्म पर अनेक प्रकार के सब्जियो तथा फलों का उत्पादन कर रहे है तथा उनको नये रूप में विकसित कर रहें है साथ ही वह अपने पॉली हाउस में स्थानीय लोगों को प्रशिक्षण दे रहे है।

जिलाधिकारी ने कृर्षि विभाग व उद्यान विभाग को निर्देश दिये कि वह हर गाँव में जाकर देखें कि किस गाँव में किस प्रकार की खेती हो सकती है उस गाँव के लोगों को उसी तरह की खेती के लिए प्रोत्साहित करें। जहाँ पानी नही है वहाँ आलू की खेती विकसित की जाय। जहाँ पानी उपलब्ध है वहाँ पानी से संबंधित सब्जी की खेती की जाय।

जिलाधिकारी ने बताया कि आने वाली यात्रा के समय पर हैलीपैड पर एनजीओ, सहायता समूह द्वारा किये गये उत्पादन की दुकाने लगाई जाय जिस से यात्रियों को यहाँ की बनी हुई वस्तुओं या उत्पादन का लाभ मिल सके। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी डीआर जोशी, अधिकारी व एनजीओ के प्रबन्धक उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *