पीएम मोदी की तस्वीर इस्तेमाल करने पर रिलायंस जियो, पेटीएम ने मांगी माफी

अपने विज्ञापनों में बिना अनुमति के प्रधानमंत्री मोदी की तस्वीर का इस्तेमाल करने के लिए रिलायंस जियो और पेटीएम ने अनजाने में हुई अपनी इस गलती के लिए माफी मांगी है। सरकार ने शुक्रवार को संसद में इस बात की जानकारी दी।उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय ने प्रतीक और नाम (अनुचित प्रयोग रोकथाम) कानून 1950 के तहत दोनों कंपनियों को नोटिस जारी किया था। यह कानून पीएम मोदी की तस्वीर का व्यवसायिक उपयोग करने से रोकता है।

उपभोक्ता मामलों के राज्यमंत्री सीआर चौधरी ने राज्यसभा में अपने एक लिखित उत्तर में बताया, रिलायंस जियो और पेटीएम से उपभोक्ता मामलों के विभाग ने सफाई मांगी थी जिस पर उन्होंने अनजाने में हुई इस गलती के लिए माफी मांगी है। उन्होंने कहा कि दोनों कंपनियों ने समाचार पत्रों में अपने पूरे पेज के विज्ञापनों में पीएम मोदी की तस्वीर इस्तेमाल की थी, जो कि कानून का उल्लंघन है।
इसके साथ ही उन्होंने बताया कि उनके विभाग की रिक्वेस्ट के आधार पर सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने सभी प्रिंट मीडियम को एक अडवाइजरी जारी की है। इस अडवाइजरी में कहा गया है कि प्रतीक और नाम (अनुचित प्रयोग रोकथाम) कानून के तहत जिन प्रतीकों और नाम का उल्लेख है उनका इस्तेमाल विज्ञापन में करने से पहले संबंधित अधिकारी से उसकी अनुमति की जांच कर लें।

निजी कंपनियों द्वारा पीएम की तस्वीर का इस्तेमाल करने की अनुमति देने के लिए अभी कोई प्रक्रिया है या फिर सरकार ऐसी कोई योजना बना रही है, इस संबंध में सवाल पूछे जाने पर मंत्री ने कहा कि इस तरह के प्रस्ताव की जांच के लिए एक कमिटी बनाई गई है।बता दें कि पिछले साल रिलायंस जियो लॉन्च करते समय कंपनी ने अपने विज्ञापनों पर पीएम मोदी की तस्वीर का इस्तेमाल किया था। इसी तरह पेटीएम ने भी नोटबंदी के बाद अपने डिजिटल वॉलेट के विज्ञापनों में पीएम की तस्वीर इस्तेमाल की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *